Wednesday, 17 April 2013

मेरा जीवनसाथी


Happy Anniversary,... Samkitji,..:)
एक अजनबी

जो
मुझे
सात वचन देकर
मेरे माथे पर
सिंदुर सजाकर

मुझे 
मंगलसूत्र पहनाकर
अग्नि की साक्षी में
सात फेरे साथ चलकर 
बन गया मेरा जीवनसाथी

वो अब
हमराज है
हर पल का
हमराह है
हर सुख दुख का

वो अब
संगी है
बचपन की यादों का
साथी है
कल के सपनों का

वो अब
साक्षी है
आंसुओं और हंसी का
वजह है
मेरे जीने की

वो अब
मेरा यकीन है
हमारे सफल जीवन का
बीते हुए पंद्रह सालो की तरह
आने वाले कल के हर पल का,......प्रीति सुराना

8 comments:

  1. वर्ष गांठ की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

    सादर

    ReplyDelete
  2. शुभकामनायें |

    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    ReplyDelete