Saturday, 26 May 2012

"उन्हे" न कभी भूल पाऊंगी


न भूलना चाहा.कभी 
"उन्हे"
न कभी भूल पाऊंगी
जो कभी कोशिश भी की
तो सच
मैं जीते जी मर जाऊंगी,.......प्रीति

0 comments:

Post a Comment