Tuesday, 22 May 2012

कितना गहरा है ये सागर


प्य़ार को गहरा सागर 
कहते है सभी
पर कितना गहरा है ये सागर 
कोई बता न पाया
क्योंकि 
जिसने भी की 
जानने की कोशिश
वो इस तरह डूबा कि 
वो गहराई बताने 
लौटकर नही आ पाया
और जो तैरता रहा 
प्रेम सागर में 
पर डूबा नहीं 
वो न प्यार जान पाया 
न उसकी गहराई जान पाया ,....प्रीति 

0 comments:

Post a Comment