Thursday, 19 April 2012

दर्द तो सबके दिल में


दर्द तो सबके दिल में होता है,
फर्क बस इतना ही होता है,

किसी का खुद का लिया होता है,   
किसी को उपहार में मिला होता है,

कोई अपने दर्द में भी हंस लेता है,
कोई दूसरों के दर्द पर हंसता है,
          
कोई अपने लिए रोता है और 
कोई अपनो के लिए रोता है,.....प्रीति

0 comments:

Post a Comment