Friday, 20 October 2017

ख्वाब झूठे नहीं हैं

हौसले अभी भी टूटे नहीं हैं
अपनो के साथ छूटे नही हैं
कुछ कदम और चल ए जिंदगी
खुशियों के ख्वाब झूठे नहीं हैं

प्रीति सुराना

0 comments:

Post a comment