Friday, 14 September 2012

मेरी सहेली


सवालों में उलझी सी रहती है हरदम,
मेरी जिन्दगी बिलकुल एक पहेली सी है,...
पल में हंसे,पल में रोए,रुठे बात-बात पर,
मेरी जिन्दगी बिलकुल मेरी सहेली सी है,......प्रीति

0 comments:

Post a Comment