Monday, 10 September 2012

तू मेरे पास है


जाने क्यूं आज मन 
जरा उदास है,...
मन को एक अजीब सी 
आस है,...
जानती हूं कि तू है 
यही मेरे साथ,...
पर चाहत है कि तू खुद कहे 
तू मेरे पास है,......................प्रीति

0 comments:

Post a Comment