Sunday, 5 August 2012

ए दोस्त


"HAPPY FRIENDSHIP DAY TO ALL FRIENDS"


ए दोस्त 
मेरी खुशी और सलामती के लिए
तू रहे सलामत बस यही दुआ है,..

क्योंकि 
जैसे ही ये दुआ कबूल होगी वैसे ही,
बढ़ जाएगी मुझमें कई गुना क्षमता,
परिस्थितियों का सामना करने की,
सुख-दुख को महसूस करने की शक्ति,
और दृढ़ हो जाएगी मेरी इच्छाशक्ति,
और मजबूत होगा मेरा आत्मविश्वास,

क्योंकि 
जब भी मैनें खुद को कमजोर पाया है,
या जब भी मैनें खुद को अकेला पाया है,
या मेरा खुद पर से विश्वास डगमगाया है,
मेरे हिस्से के आंसू बहाकर मुझे हंसाया है
वो तुम ही तो हो जिसने मुझसे भी ज्यादा,
मुझ पर विश्वास करके मेरा साथ निभाया है,

क्योंकि
तुमने रिश्ते इसलिए नहीं निभाए कि खून के हैं,
तुमने ऱिश्ते को नही तोला नफे-नुकसान से,
नही साधा तुमने मुझसे कोई ऐसा स्वार्थ जो
इस रिश्ते को दुनियादारी का नाम दिया जाए,
सबसे अनमोल बात अच्छाई या बुराई को नहीं,
बल्कि मैं जैसी हूं वैसे ही तुमने मुझे अपनाया है,

ए दोस्त इसलिए 
मेरी खुशी और सलामती के लिए,
तू रहे सलामत बस यही दुआ है .,......प्रीति

1 comment: