Sunday, 22 July 2012

यूंही कह दिया


अरे!

ये तुमने
अपनी सांसे 
क्यूं रोक रखी है?

मैंने तो

यूंही कह दिया 
कुछ देर मुझे
याद न करो,...प्रीति सुराना

0 comments:

Post a Comment