Saturday, 26 May 2012

वो सारे मंजर


अजीब ही होते हैं मोहब्बत के वो सारे मंजर
जो दिल में बसकर दिल को ही मिटाने की साजिश करते हैं
और हम हैं कि लुट जाने का पता है फिर भी
उनकी मोहब्बत में मिट जाने तक की ख्वाहिश रखते हैं,...प्रीति

0 comments:

Post a Comment