Tuesday, 20 September 2016

100 कदम

माना ये जीवन है एक सुन्दर सफ़र,
एक "कदम" बढ़ाया है पर लंबी है डगर,
भागते भागते ही कट जाएगी जिन्दगी,
इसलिए जरूरी है एक छोटा सा "मध्यांतर",... प्रीति सुराना

2 comments:

  1. हार्दिक शुभकामनायें और बहुत बहुत बधाई।

    ReplyDelete